आने वाला है विश्व पर्यावरण दिवस, जानें क्यों है खास और क्या है इस साल का थीम

हमारे जीवन में पर्यावरण की महत्वता है इसे आज करीब हर कोई समझने लगा है. सांस लेने से लेकर खाना खाने तक हर किसी को पर्यावरण की जरूरत होती है और इसकी ही जागरुकता को लेकर हर साल पर्यावरण दिवस मनाया जाता है.

बदलते वक्त के साथ ही लोग अब पर्यावरण से दोबारा से जुड़ने लगे हैं. एक तरफ जहां लोग प्रगति के नाम पर पेड़-पौधे काट रहे हैं, तो वहीं कुछ ऐसे लोग जो इसकी जरूरत को समझते हैं अपने घर में ही पेड़-पौधे लगा रहे हैं. बता दें कि हर साल 5 जून को पर्यावरण दिवस को मनाते हुए लोगों को इससे जुड़ी जानकारी देने की कोशिश की जाती है. इसके लिए हर साल एक थीम तय किया जाता है.

साल 1972 में पहली बार विश्व पर्यावरण दिवस मनाया गया था. पहली बार संयुक्त राष्ट्र महासभा ने इस पर चर्चा किया था और तब से लेकर आज तक इसे हर साल मनाया जा रहा है. वहीं हर साल की तरह इस साल भी इसका एक थीम तय किया गया है. इस साल का थीम Ecosystem Restoration है. जिसका सीधे शब्दों में मतलब है पर्यावरण को फिर से अच्छी अवस्था में लाना.

बदलते दिन के साथ-साथ आज हम भारतवासियों को भी पर्यावरण की कमी खलने लगी है. आपको ये जानकर हैरानी नहीं होगी की बीते कुछ सालों से हर साल दुनिया की टॉप 10 वायु प्रदूषित शहर की लिस्ट में भारत भी शुमार है. जहां एक ओर गाड़ियों और फैक्ट्रियों से निकलने वाले प्रदूषण ने पहले से हमारा जीना मुहाल कर दिया था, वहीं इस पर कोरोना ने भी कोई कसर नहीं छोड़ी. हमने शायद ही कभी सोचा होगा की इतनी बड़ी मात्रा में हमें ऑक्सीजन की कमी होगी और इसकी वजह से लोगों की जान जाएगी. प्रकृति हमें अक्सर अपनी उपयोगिता समझाते आई है. और एक बार फिर हमें ये समझ आ रहा है कि पर्यावरण कितना जरूरी है.

You may also like...