बॉलीवुड के किंग खान यानि शाहरुख खान की पत्नी गौरी खान का जन्मदिन है. इस मौके पर कई तरह की कहानियां उमड़-घुमड़कर सामने आएंगी. एक ऐसी ही कहानी हर बार इस जोड़ी की जिक्र होने पर सोशल मीडिया में तैरने लगती है. असल में शाहरुख और गौरी की शादी को अब 28 साल हो गए हैं. दोनों बॉलीवुड के आयडल कपल माने जाते हैं. ये कई मौकों पर जाहिर हो चुका है. लेकिन क्या आप जानते हैं कि शादी के बाद शाहरुख ने अपनी पत्नी को नमाज और बुर्का पहने को कहा था.

शाहरुख खान, गौरी को दिल तब दे बैठे थे, जब उन्होंने अपने करियर की शुरूआत भी नहीं की थी. साल 1984 में पहली बार शाहरुख ने गौरी को देखा और पहली बार देखते ही उन्हें दिल दे बैठे. 6 साल के रिलेशनशिप के बाद दोनों ने शादी की.

दोनों की शादी में दोनों का अलग-अलग धर्मों का होना एक बड़ी रुकावट थी. गौरी के परिवार के सामने शाहरुख 5 साल तक हिंदू बने रहे. आखिरकार सच सामने आ ही गया. कई मुश्किलों का सामना करने के बाद आखिरकार घरवाले रिश्ते के लिए राजी हुए.

बॉलीवुड के इस पॉवर कपल को एक नहीं बल्कि तीन बार शादी की. कई मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, शाहरुख खान और गौरी खान ने पहले कोर्ट मैरिज की. इसके बाद 26 अगस्त, साल 1991 को दोनों का निकाह हुआ. इसके बाद 25 अक्टूबर 1991 को दोनों की शादी हिंदू रीति-रिवाज से हुई. इस तरह शाहरुख खान और गौरी को तीन बार शादी करनी पड़ा.

एक इंटरव्यू में शाहरुख ने कहा कि मुझे याद है कि जब हमारी शादी हुई तो गौरी के कई रिश्तेदार खुश नहीं थे. पुराने ख्यालात के लोग थे. मैं उन्हें और उनकी सोच का सम्मान करता हूं. उन्होंने बताया कि मैं जैसे ही वहां पहुंचा सभी बातें कर रहे थे ‘हम्म मुस्लिम लड़का.. क्या लड़की का नाम भी बदलेगा, क्या वो मुस्लिम बन जाएगी’. उस समय शाहरुख ने मजाक में कहा था कि उन्होंने गौरी को नमाज पढ़ने को बोला है और गौरी को बुर्का पहनना होगा. उन्होंने बताया कि मेरा इतना कहते ही गौरी के सभी रिश्तेदार शांत हो गए.