नहीं रहे मशहूर गायक सईद साबरी, ‘एक मुलाकात जरूरी है’ से किया था लोगों के दिलों पर राज

बॉलीवुड में अपने गानों से लोगों के दिल पर राज करने वाले मशहूर गायक सईद साबरी ने रविवार को अपनी अंतिम सांस ली. जयपुर में बीते कुछ सालों से बीमार सईद साहब का 85 वर्ष की उम्र में निधन हो गया. सईद साहब को अगर आप नहीं पहचान रहे तो बता दें कि उन्होंने ‘एक मुलाकात जरूरी है’ और ‘देर न हो जाए’ जैसे गानों से लोगों के दिलों पर राज किया है.

सईद साबरी की मौत के बाद उनके शव को मथुरा वालों की हवेली से घाटगेट स्थित कब्रिस्तान लाया गया, जहां उन्हें सुपुर्द ए खाक कर दिया गया. बता दें कि उनके बड़े बेटे और जाने-माने गायक फरीद साबरी का भी निधन इसी साल 21 अप्रैल को हुआ था. वहीं अब उनके घर में सईद साहब के छोटे बेटे अमीन साबरी बचे हैं. अमीन भी अपने पिता और भाई की तरह ही एक जाने-माने गायक हैं.

दोनों साबरी भाई और सईद साबरी के साथ तीनों देश-विदेश में साबरी ब्रदर्स के नाम से चर्चित थे. सईद साहब ने अपने बड़े बेटे फरीद साबरी और लता मंगेशकर के साथ फिल्म ‘हिना’ की कव्वाली ‘देर न हो जाए’ से लोगों का दिल लूट लिया था. इतनी ही नहीं साबरी ब्रदर्स ने फिल्म ‘सिर्फ तुम’ में जब ‘इक मुलाकात जरूरी है’ सनम गाया था तो सारे लोग झूम उठे थे. फिल्म हिना के वक्त राज कपूर पहले एक पाकिस्तानी गायक को लेना चाहते थे, लेकिन उनकी गर्मजोशी की वजह से उन्होंने भारतीय गायकों को ही फिल्म में लेने की ठान ली.

हालांकि, फिल्म हिना के शूटिंग के दौरान ही राज कपूर की मौत हो गई, लेकिन अपनी डायरी में साबरी ब्रदर्स का नाम लिख कर छोड़ जाने की वजह से हमें आज देर न हो जाए जैसा गाना मिला. एक इंटरव्यू के दौरान रणधीर कपूर ने बताया था कि राज कपूर की डायरी में साबरी ब्रदर्स का नाम मिलने की वजह से ही जयपुर के सईद साबरी, फरीद साबरी और अमीन साबरी को चुना गया था.

You may also like...