पाकिस्तान सरकार ने राज कपूर और दिलीप कुमार के पैतृक घर को बेचने की दी अनुमति, लगाई इतनी कीमत

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता दिलीप कुमार और राज कपूर का पैतृक घर पाकिस्तान स्थित खैबर पख्तूनख्वा प्रांत में है. जिसे मंगलवार को खैबर पख्तूनख्वा प्रांत की सरकार ने खरीदने की मंजूर दे दी है. इसके बाद अब अभिनेताओं के घरों को संग्रहालय में तब्दील कर दिया जाएगा.

पेशावर के जिला आयुक्त कैप्टन (सेवानिवृत्त) खालिद महमूद ने दोनों बॉलीवुड अभिनेता के घरों के वर्तमान मालिकों की आपत्ति को खारिज कर दिया है. जिसके बाद दोनों अभिनेताओं के घरों को पुरातत्व विभाग को सौंपने का आदेश दिया गया है.

जिला आयुक्त कैप्टन खालिद महमूद की ओर से जारी अधिसूचना के अनुसार, दोनों अभिनेताओं के घर की जमीन अधिग्रहण करने वाले विभाग के नाम रहेगी यानी जमीन निदेशक पुरातत्व एवं संग्रहालय के नाम रहेगी.

खैर पख्तूनख्वा सरकार ने चार मरला में बने दिलीप कुमार की हवेली की कीमत 80 लाख रुपए तय की है, वहीं 6.25 मरला में बने राज कपूर के घर की कीमत 1.50 करोड़ रुपए रखी गई है. बता दें कि मरला भारत, पाकिस्तान और बांग्लादेश में जमीन की नाप लेने का पुराना मापक है, जहां एक मरला करीब 272.25 स्क्वैर फुट के बराबर होता है.

सरकार ने जहां राज कपूर के घर की कीमत 1.50 करोड़ रखी, वहीं घर के मौजूदा मालिक अली कादिर ने इसके 20 करोड़ मांगे थे. साथ ही दिलीप कुमार की हवेली के मौजूदा मालिक ने इसकी कीमत 3.50 करोड़ लगाई थी, जबकि सरकार ने हवेली की कीमत 80 लाख रखी. पेशावर के किस्सा ख्वानी बाजार में स्थित राज कपूर के पैतृक घर की नींव 1918 से 1920 के बीच उनके दादा बशेश्वरनाथ कपूर ने रखवाई थी, जबकि इसी इलाके में स्थित दिलीप कुमार का घर भी करीब 100 साल पुराना है.

साल 2014 में नवाज शरीफ की तत्कालीन सरकार ने इन घरों को तोड़कर मॉल या प्लाजा बनवाने की कोशिश की थी. हालांकि, पुरात्तव विभाग इसके महत्व को देखते हुए इन्हें संरक्षित करना चाहता था.

You may also like...