प्रेग्नेंसी के दौरान पार्टनर से बनाना चाहते हैं शारीरिक संबंध तो जान लें ये खास बातें

पति-पत्नी के के बीच शारीरिक संबंध बनाना कोई बच्चों का खेल नहीं होता. ऐसे में जब बात प्रेग्नेंसी के दौरान संबंध बनाने की हो तो सावधानी बरतने जरूरत भी बढ़ जाती है. वहीं इस बात को लेकर कई लोगों के मन में एक सवाल ये भी उठता रहता है कि प्रेगनेंसी के दौरान शारीरिक संबंध बनाना गलत तो नहीं? बता दें कि प्रेगनेंसी के दौरान एक महिला के शरीर और उसके हार्मोन्स में काफी बदलाव आते हैं और जिससे उन्हें प्यार की ज्यादा जरूरत होती है.

वहीं बॉलीवुड सेलिब्रिटी की बात करें तो हाल ही में अभिनेत्री करीना कपूर खान ने प्रेग्नेंसी को लेकर एक किताब लिखी. हालांकि, इस किताब के नाम ‘द प्रेग्नेंसी बाइबिल को लेकर काफी विवाद भी हुआ, लेकिन इसके बावजूद लोगों को ये किताब काफी पसंद आई. बता दें कि इस किताब में करीना ने भी प्रेग्नेंसी के दौरान शारीरिक संबंध को लेकर कई बातें कही. अपनी किताब में बॉलीवुड अभिनेत्री ने कहा कि जब वह तैमूर को लेकर गर्भवती थीं, तो ज्यादा ऊर्जावान थीं. उन्होंने आगे कहा, ‘लेकिन जब मैं जहांगीर को लेकर गर्भवती थी, तो मैं विशेष रूप से सेक्सी महसूस नहीं करती थी.’

 

बता दें कि करीना अक्सर किसी ना किसी कारण से चर्चाओं में घिरी रहती हैं. हाल ही में वो अपने दूसरे बेटे जेह उर्फ जहांगिर को लेकर भी काफी सुर्खियों में थी.

आपको ये जानकर हैरानी होगी की एक महिला गर्भावस्था के दौरान शारीरिक संबंध को ज्यादा एंजॉय करती है. इसकी खास वजह ये है कि जननांगों में बढ़ा हुआ ब्लड सर्कुलेशन उन्हें ज्यादा संवेदनशील बना देता है. इसके साथ ही ऐसे वक्त में महिलाओं का स्तन भी ज्यादा संवेदनशील हो जाता है. जिसका अर्थ ये होता है कि आप गर्भावस्था के दौरान अपने पति या पत्नी के साथ हमबिस्तर तो हो सकते हैं लेकिन, इसके लिए कुछ खास सावधानियों का ख्याल रखना होगा.

प्रेगनेंसी के हर तीन महीने पर संबंध बनाना सुरक्षित होता है. हालांकि, ज्यादातर महिलाओं को ऐसे में शारीरिक संबंध बनाते वक्त इस बात का डर लगा रहता है कि कहीं इस वजह से गर्भपात या फिर ज्यादा दर्द ना हो जाए. लेकिन ज्यादातर मामलों में ऐसा कुछ नहीं होता. इसके बावजूद अगर आपको डर है तो एक बार डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

हालांकि, बता दें कि शारीरिक संबंध के दौरान भ्रूण को कोई नुकसान नहीं पहुंचता, क्योंकि संबंध बनाने में उपयोग आने वाले शरीर के अंग अलग हैं. इसके साथ ही ये भी जान लें कि शिशु के आसपास एमनियोटिक द्रव का घेरा होता है जो उसे सुरक्षित रखता है. संबंध बनाने के दौरान पेनेट्रेशन योनि में होता है और इससे गर्भाशय पर कोई असर नहीं होता.

You may also like...