बॉलीवुड एक्टर सुशांत सिंह राजपूत के निधन को करीब करीब डेढ़ महीने से ज्यादा हो चूका है लेकिन सुशांत सुसाइड केस की गुत्थी सुलझने के बजाय और ज्यादा उलझती जा रही है. हाल ही में भाजपा नेता और महाराष्ट्र के पूर्व मुख्यमंत्री नारायण राणे ने सुशांत सिंह राजपूत और दिशा सालियान केस में सनसनीखेज आरोप लगाए हैं. नारायण राणे ने कहा है कि सुशांत ने सुसाइड नहीं किया है बल्कि उनका मर्डर हुआ है. इसके अलावा नारायण राणे ने दिशा सालियान सुसाइड को भी मर्डर बताया है.

भाजपा नेता नारायण राणे ने मीडिया से बातचीत में कहा, रिया चक्रवर्ती सुशांत के साथ उनके घर रह रही थीं. उन्होंने अपना फोन बंद कर लिया. वो इस मामले में आरोपी हैं और वे अब गायब हैं और पुलिस को इस बारे में कोई जानकारी नहीं है. आखिर कौन सुशांत को पिछले 20 दिनों से धमका रहा था जिसके चलते उन्हें अपना सिम रोज बदलना पड़ रहा था. आखिर इसकी जांच क्यों नहीं हो रही है?

नारायण राणे ने दिशा सालियान के बारे में बात करते हुए कहा दिशा की मौत 8 जून को हुई थी. उनका पोस्टमार्टम 9 जून को हुआ था. क्या वो सुशांत के साथ रह रही थी? क्या पुलिस ने इस बात की जांच की? मेरे पास उनकी पोस्टमार्टम की जानकारी है जिसमें कहा गया है कि उन्होंने सुसाइड नहीं किया है बल्कि उनकी हत्या हुई है. आखिर पुलिस इस मामले में चुप क्यों हैं? ऐसा लगता है कि ये सरकार उन लोगों को बचा रही है जो इस मामले में फंस सकते है. ये इतना महत्वपूर्ण मुद्दा है और इस मुद्दे से ध्यान भटकाया जा रहा है. कई लोगों की तरह मुझे भी लगता है कि ये सुसाइड नहीं है बल्कि मर्डर है. 50 दिन बीत चुके हैं और मुंबई की विश्व प्रसिद्ध पुलिस अब तक इस मामले में असली गुनहगार को ढूंढ नहीं पा रही है.

नारायण राणे ने आगे ये भी कहा कि मैं यकीन से कह सकता हूं कि इस मामले में प्रभावशाली लोग किसी ना किसी को बचाने की कोशिश कर रहे हैं. सूरज पंचोली की हाउस पार्टी 13 जून को हुई थी, आखिर उस मामले में पूछताछ क्यों नहीं की जा रही है. मुंबई पुलिस इस मामले में न्याय नहीं दे सकती है. आखिर मुंबई पुलिस कमिश्नर इतने नाराज क्यों हैं? आखिर बीएमसी ने बिहार के आईपीएस ऑफिसर को क्यों क्वारनटीन किया? उन्होंने ये भी कहा कि ये डीनो मौर्या कौन है? उनका घर सुशांत के घर से कुछ ही दूरी पर है. कई मिनिस्टर्स डीनो के घर गए थे. उस दिन पार्टी के दिन सब डीनो के घर से निकल सुशांत के घर के लिए निकले थे. ये कुछ छिपाने की कोशिश कर रहे हैं.

आपको बता दें कि नारायण राणे का कहना है कि दिशा का परिवार दबाव में है. जब ये लोग एक आईपीएस अफसर को क्वारनटीन कर सकते हैं तो जाहिर है उनका परिवार भी खुल कर अपनी बात नहीं कह पा रहा है. हम उनकी पोस्टमार्टम रिपोर्ट को सही समय पर सबमिट करेंगे. हम उन लोगों के नाम भी बताएंगे जिन लोगों ने इस मामले में आरोपी को बचाने की कोशिश की है. नारायण राणे ने इससे पहले ट्वीट कर कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत ने खुदकुशी नहीं की है. उनकी हत्या की गई थी. महाराष्ट्र सरकार किसी को बचाने की कोशिश कर रही है. वह इस मामले में ध्यान नहीं दे रही है. सुशांत मामले में लगातार सीबीआई जाँच की मांग हो रही है लेकिन ये मामला अभी तक पुलिस के ही हाथ में है.