से’क्स से जुड़ी इन गलतियों से बचें, नहीं तो मां बनने के सुख से रह जाएंगी वंचित

कई बार आप जाने-अनजाने सेक्स से जुड़ी कई गलतियां भी कर देते हैं जिस वजह से प्रेग्नेंट होने में देरी होती है या फिर बांझपन तक का खतरा रहता है। कौन सी हैं वो गलतियां यहां जानें।

इन्फर्टिलिटी उस स्थिति को कह सकते हैं जिसमें करीब 1 साल तक नियमित रूप से इंटरकोर्स करने के बाद भी प्रेग्नेंट होने में सफलता हासिल ना हो। एक रिसर्च की मानें तो भारत के करीब 15 से 18 प्रतिशत यंग कपल्स इन दिनों इन्फर्टिलिटी की समस्या से जूझ रहे हैं। 30 साल से कम उम्र की महिलाओं और पुरुषों में भी फर्टिलिटी से जुड़ी समस्याएं देखने को मिल रही हैं। लेकिन इन्फर्टिलिटी के लिए सिर्फ आपकी भाग-दौड़ भरी जिंदगी, गलत खानपान और स्ट्रेस जैसी चीजें ही जिम्मेदार नहीं हैं। बल्कि कई बार आप जाने-अनजाने सेक्स से जुड़ी कई गलतियां भी कर देते हैं जिस वजह से प्रेग्नेंट होने में देरी होती है या फिर बांझपन तक का खतरा रहता है।

एक महिला के लिए सबसे बड़ा सुख होता है पर आजकल की लाइफस्टाइल और खानपान से जुड़ीं कई आदतें महिलाओं के बांझपन का कारण बन रही हैं. इसके अलावा, शरीर में हार्मोनल असंतुलन होने की वजह से भी महिलाएं इनफर्टिलिटी की शिकार हो जाती हैं. अगर कोई महिला गर्भधारण करने में असमर्थ होती है, तो उसके मन में डर और आशंकाएं पैदा होने लगती हैं. इन शंकाओं को दूर करने के लिए जानते हैं एक्सपर्ट से कि कैसे महिलाएं इनफर्टिलिटी की समस्या से निजात पा सकती हैं.

महिलाओं में बांझपन के कई कारण हो सकते हैं. अगर किसी महिला की फैलोपियन ट्यूब में सेक्सुअली ट्रांस्मिट डिजीज या कोई सर्जरी की वजह से इंफेक्शन हो जाता है तो यह गर्भधारण की संभावना को कम कर देता है.

जब बात बच्चे की प्लानिंग की आती है तो आपको हर चीज का ध्यान रखना पड़ता है और इसी में से सबसे अहम पॉइंट ये भी है कि आखिर आप कितना सेक्स कर रहे हैं। अगर आप सोचती हैं कि सिर्फ ऑव्यूलेशन के दिनों में सेक्स करने से आप प्रेग्नेंट हो जाएंगी तो ऐसा नहीं है। अगर आप कम सेक्स करती हैं और किसी भी वजह से अगर आप ऑव्यूलेशन डेज में सेक्स नहीं कर पातीं तो प्रेग्नेंसी के चांसेज वैसे ही घट जाएंगे। हफ्ते में 1 बार की बजाए 2 से 3 बार सेक्स जरूर करें। साथ ही साथ स्पर्म की क्वॉलिटी भी घट जाती है अगर लगातार 3 दिनों तक सेक्स न किया जाए। ऐसे में रेग्युलर इंटरवल में सेक्स करते रहें।

ऊपर हमने आपको बताया कि कम सेक्स करने से प्रेग्नेंसी की संभावना घट जाती है लेकिन इसका मतलब ये नहीं कि आप दिनभर सिर्फ सेक्स ही करते रहें। अगर आप सोचते हैं कि आप जितना ज्यादा सेक्स करेंगे, गर्भधारण करने की संभावना उतनी ही अधिक होगी तो आप गलत है। अगर आप बहुत ज्यादा सेक्स करने लगेंगे तो इससे बर्नआउट की स्थिति हो सकती है और जब फीमेल पार्टनर का ऑव्यूलेशन डेज आएगा तब हो सकता है आपकी सेक्स करने की इच्छा घट जाए और एक बेहतरीन मौका आपके हाथ से निकल जाए।

आपने अक्सर सेक्स और प्रेग्नेंसी को लेकर कई बातें सुनी होगी। जैसे- मिशनरी पोजिशन को प्रेग्नेंसी के लिए सबसे बेस्ट माना जाता है या फिर सेक्स के बाद हिप्स को ऊपर उठाकर रखने से गर्भधारण के चांसेज बढ़ जाते हैं, आदि। लेकिन इन बातों में कोई सच्चाई नहीं है क्योंकि जब पुरुष इजैक्युलेट करते हैं तो स्पर्म बाहर निकलकर सर्वाइकल म्यूकस से होते हुए फैलोपियन ट्यूब तक पहुंच जाते हैं और इस पूरी प्रक्रिया में सिर्फ कुछ सेकंड का वक्त लगता है। लिहाजा किसी एक पोजिशन में ही बंधे रहने की बजाए और अलग-अलग सेक्स पोजिशन्स के साथ एक्सपेरिमेंट कर सकते हैं।

अक्सर लोग सेक्स के दौरान होने वाले दर्द को कम करने और पूरी सेक्शुअल ऐक्ट की प्रक्रिया को आरामदेह बनाने के लिए लुब्रिकेंट्स का इस्तेमाल करते हैं। लेकिन अगर आप प्रेग्नेंट होने की कोशिश कर रहे हैं तो बेहतर होगा कि लुब्रिकेंट का इस्तेमाल न करें क्योंकि इसमें केमिकल्स बहुत ज्यादा होते हैं जिससे स्पर्म की गतिशीलता को नुकसान पहुंचता है और ऐसा होने से स्पर्म एग्स तक नहीं पहुंच पाते और प्रेग्नेंसी में दिक्कत आती है।

You may also like...