सोने से भी किया जा सकता है वेट लूज, जानें कितनी नींद है मोटापा कम करने के लिए जरूरी

काफी लोग ऐसे होते होते हैं जो सही डाइट और रोजाना वर्कआउट तो करते हैं, लेकिन इसके बावजूद भी उनका वजन कम होने का नाम ही नहीं लेता. अगर आप भी उन्हीं लोगों में से हैं तो आपको बता दें कि आपकी नींद भी आपका वजन कम करने में सहायक होती है. अगर लाख कोशिशों के बावजूद भी आपका वजन कम नहीं हो रहा तो आपको आपकी नींद पर का ख्याल रखने की जरूरत है.

अमेरिका के क्लीवलैंड विश्वविद्यालय में ‘महिलाओं में कम नींद और वजन बढ़ने के बीच संबंध’ नाम से शोध किया जा चुका है. इस में 16 सालों तक करीब 60 हजार ऐसी नर्सों पर अध्ययन किया गया था जो मोटापा से पीड़ित नहीं थीं. इस शोध में पाया गया था कि वैसी महिलाएं जो रोजाना 5 घंटे या उससे कम सोती थीं उनमें वैसी महिलाएं जो 7 घंटे या उससे ज्यादा सोती थी से करीब 15 प्रतिशत अधिक मोटापा की संभावना पाई गई है.

नींद के दौरान ही मुख्य तौर पर भूख के हार्मोन लेप्टिन और घ्रेलिन बनते हैं. इन्हीं हार्मोन की वजह से हमें पता चलता है कि कब खाना है कब नहीं. जब तक आप खाना नहीं खा लेते हैं तब तक आपके शरीर में घ्रेलिन की मात्रा बढ़ी हुई ही रहती है. वहीं जब आप खाना खा लेते हैं, तो फैट सेल्स से लेप्टिन हार्मोन रिलीज हो जाता है, जो भूख को दबा देता है. लेकिन वहीं जब आपकी नींद सही से पूरी नहीं होती तो ये दोनों हार्मोन सही मात्रा में नहीं बन पाते और आपका डाइट चार्ट न चाहते हुए भी गड़बड़ हो जाता है.

वहीं एक और वजह ये है कि सोते वक्त शरीर खुद की मरम्मत करता है. ऐसे में जब आपकी नींद पूरी नहीं होती तो शरीर भी पूरी तरह से मरम्मत नहीं कर पाता. इसका नतीजा ये निकलता है कि आपकी मांसपेशियां कमजोर हो जाती हैं. जिस वजह से आप सही से वर्कआउट नहीं कर पाते और ये आपके मोटापे पर असर डालता है.

You may also like...