हड्डियों को मजबूत करने से लेकर शुगर नियंत्रण तक, आलू बुखारा का है कई जबरदस्त फायदा

आलू बुखारा में बड़ी मात्रा में विटामिंस और अन्य पोषक तत्व पाए जाते है। आलूबुखारा को इंग्लिश में प्लम के नाम से जाना जाता है। जो हर्ट से लेकर हड्डियों को मजबूत करने तक में फायदा पहुंचाता हैं। आलूबुखारा को इंग्लिश में प्लम कहा जाता है। यह ताजा या फिर सुखा कर भी खाया जाता है। दुनिया भर में आलूबुखारा का 2000 से ज्यादा किस्में पाई जाती हैं। स्वाद में यह खट्टा मीठा होता है। आलूबुखारा में ए,के,बी 1,बी 2, बी 3, सी, ई के अलावा बीटा कैरोटिन आदि बहुत सारे पोषक तत्व पाए जाते है।

आलूबुखारा के कई फायदे है जो इस प्रकार है: 

हड्डियों को मजबूत : आलूबुखारा में विटामिन k पाया जाता है।जिससे हमारे शरीर की हड्डियां मजबूत बनती हैं। हम फिट महसूस कर सकते हैं।ऑस्टियोपोरिसी का रिस्क घटता है। महिलाओं में 45 साल के बाद ऑस्टियोपोरिसी की समस्या होने का खतरा ज्यादा बढ़ जाता है।सूखे आलूबुखारा का सेवन करने से इसका खतरा कम होता है।

आलू बुखारा

आंखों के लिए फायदेमंद : आलूबुखारे को आंखों की सेहत के लिए भी काफी फायदेमंद माना जाता है। इसमें जेक्सनथिन फाइबर और विटामिन ए पाया जाता है। जो रेटीना को हेल्दी रखने मददगार है। साथ ही आंखों को यूवी किरणों से होने वाले नुकसान से बचाता है।

वजन घटाने में सहायक : अगर आप अपना वजन कम करना चाहते है तो आलू बुखारा इसमें काफी मददगार होता है। इस फल को खाने से फैट नहीं बढ़ता बल्कि वजन नियंत्रित रहता है। साथ ही इस फल के बाकी सारे पोषक तत्व भी मिल जाते है।

स्किन को हेल्दी रखता : आलू बुखारा खाने से स्किन हेल्दी होती है। झुरियां दूर होती है। रंग भी साफ होकर चेहरा पर ग्लो आ जाता है। गुलाबजल या खीरा में आलू बुखारा मिला कर लगाने से चेहरा निखरता है।

शुगर नियंत्रित होना :आलू बुखारा के सेवन से शरीर में शुगर की मात्रा नहीं बढ़ता। रक्त में शुगर भी नियंत्रित रहता है। शुगर से ग्रसित मरीज भी इसे आसानी से खा सकते हैं। शरीर में शुगर की मात्रा को नियंत्रित करने के लिए लाभदायक है।

पाचन क्रिया दुरुस्त : आलूबुखारा के नियमित सेवन से पाचन क्रिया ठीक रहती है। इसमें भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है। जिससे पेट की पाचन क्रिया स्वस्थ रहती है। इससे कब्ज जैसी समस्या भी कम होती है।

You may also like...