लव मैरिज के इस दौर में आज भी कई सारे युवा ऐसे हैं जो अरेंज मैरिज करना पसंद करते हैं. लव मैरिज में दो लोग एक दूसरे को लंबे समय से जान रहे होते हैं, जबकि अरेंज मैरिज में ऐसा कुछ नहीं होता है और ऐसे में विवाह पक्का होने और विवाह होने की तिथि में ज्यादा अंतर न हो तब तो अपने हमसफर को जानने के लिए समय ही नहीं मिल पाता है. यदि आपकी भी स्थिति कुछ ऐसी ही है तो घबराने की कोई बात नहीं है. आप यह समझ लें कि आप दोनों को ही विवाह के बाद एक दूसरे को जानने-समझने का समय मिलेगा परंतु यह आपको तय करना है कि आप किस तरह से बन पाएंगे सच्चे हमसफर. अगली स्लाइड्स से जानिए वो तरकीबें, जो आपको अपने हमसफर को समझने में करेंगी मदद.

सुनना जरूरी है

यदि आप अपने हमसफर को बहुत अच्छे से जानना चाहते हैं तो बहुत जरूरी है कि एक दूसरे की बातों को सुनें, उनके विचारों का सम्मान करें. यदि शुरुआत में ही एकदूसरे की बातों को काटना शुरू कर देंगे तो सामने वाला व्यक्ति अगली बार से बहुत सोच- समझकर बोलेगा और ऐसा होने पर स्त्री और पुरूष दोनों ही एक दूसरे को जान नहीं पाएंगे.

एकांत में करें अपने डर की बात

यदि आप एक दूसरे को सहज महसूस करवाना चाहते हैं तो जरूरी है कि आप अपने डरों पर बात करें. लेकिन याद रखें कि ये बातें एकांत में हों. सार्वजनिक रूप से कोई भी व्यक्ति अपने डर या दुर्बलता के पलों को साझा करने में असमर्थ होता है.

एक दूसरे से कुछ न छिपाएं

आप दोनों एक नया जीवन शुरू करने जा रहे हैं तो बहुत जरूरी है कि एक दूसरे से कुछ न छिपाएं. अतीत सभी का होता है, हमारे जीवन में हम कई अच्छे बुरे लोगों से टकराएं होते हैं. एक दूसरे को जानना ही है तो कुछ भी न छिपाएं फिर. विश्वास रखें, सामने वाला आपको समझेगा और आगे चलकर यह रिश्ता गहरा ही होगा.

एक दूसरे के दोस्तों को दें एहमियत

एक दूसरे को जानने के लिए यह एक अच्छी तरकीब हो सकती है कि उस व्यक्ति से व्यवहार अच्छे रखें जो कि आपके हमसफर को बहुत अच्छे से जानता हो, ऐसा करने से आपको शायद वो बातें भी पता चल जाए जो कि आपके पार्टनर खुद भी स्वयं के बारे में न जानते हों. जीवनसाथी के हम उम्र साथियों, भाई-बहनों से अच्छे से पेश आएं.

उत्साह को न करें खत्म

अपने जीवन साथी को खुश करने के अवसर खोजें क्योंकि अक्सर लोग अत्यधिक खुशी में उत्साहित होकर बहुत कुछ कहते हैं. ऐसे समय अपने हम राही के उस उत्साह का आनंद उठाएं, गलती से भी ऐसे समय उसे नजरअंदाज न करें. अपना पूरा समय और ध्यान उन पर दें ताकि वो उत्साह बरकरार रहे और अपना दिल वे आपके सामने खोल पाएं.