हिंदू धर्म और संस्कृति में शुरुआती दौर से बिंदी का प्रचलन रहा है. आज भी कई महिलाओं का श्रृंगार बिना बिंदी के पूरा नहीं होता. आज के दौर में भले ही महिलाएं या लड़कियां सुंदरता के लिए बिंदी लगाती है, लेकिन क्या आपको मालूम है इसके और भी बड़े फायदे हैं? तो चलिए आपको बताते हैं बिंदी लगाने कुछ फायदों के बारे में.

दरअसल, महिलाओं पर घर का बोझ काफी ज्यादा होता है. ऐसे में टेंशन होना आम बात है. वहीं माथे पर बिंदी एक विशिष्ट बिंदु पर लगाई जाती है. एक्यूप्रेशर के मुताबिक, यह बिंदु सिरदर्द से फौरन राहत देता है. ऐसा होने का कारण ये है कि इसमें नसों और रक्त वाहिकाओं का अभिसरण होता है. वहीं जब बिंदी वाली जगह पर मालिश की जाती है तो सिर दर्द से जल्द आराम मिलता है.

बिंदी वाली जगह पर रोजाना मालिश करने से मांसपेशियों और नसों को आराम मिलता है. साथ ही इससे मन को शांत करने और तनाव को कम करने में भी राहत मिलती है. भले ही आज के दिनों में ज्यादातर पुरुष माथे पर टीका ना लगाते हों लेकिन एक कारण ये भी था जब पुराने जमाने में लोग रोजाना सिर पर टीका लगाया करते थे.

सुप्राट्रोक्लियर नस बिंदी वाली जगह पास होती है, जो ट्राइजेमिनल नस के आंखों के विभाग की एक शाखा भी है. यह नस आंखों से भी जुड़ी होती है और बिंदी लगाने से यह नस उत्तेजित होती है. इस नस की उत्तेजना सीधे आंखों के स्वास्थ्य में सुधार करने में सहायक होती है.

ये भी पढ़ें- महिलाओं के लिए ‘सुपरफूड’ साबित होंगी ये चीजें, डाइट में शामिल करने से दिखेंगी जवां

आज भले ही महिलाएं शौक से या फिर चेहरे की सुंदरता बढ़ाने को लेकर बिंदी कभी-कभी लगाती है, लेकिन इसे रोजाना लगाने से आप फ्रेश और तनाव मुक्त महसूस करेंगी.