नई दिल्ली. फिल्ममेकर और ऋतिक रोशन के पिता राकेश रोशन को साल 2018 में जीभ का कैंसर हुआ था लेकिन उन्होंने इससे हार नहीं मानी और कैंसर को मात देने में कामयाबी हासिल की. डॉक्टरों ने उन्हें यहां तक कह दिया गया था कि उनकी जीभ काटनी पड़ सकती हैं, क्योंकि उन्हें जीभ में कैंसर था.

राकेश रोशन ने साझा किया कैंसर का दर्द

बीमारी के दौरान राकेश रोशन ने किस तरह से अपने आप को संभाला और स्वस्थ हुए, अपना पूरा अनुभव फिल्ममेकर ने वर्ल्ड कैंसर डे के मौके पर साझा किया है. डॉक्टर ने उन्हें शराब और सिगरेट पीने से मना कर दिया था, लेकिन इसके बाद भी वह रोज शराब पीते थे. वो ऐसा क्यों करते थे इस बात का खुलासा उन्होंने अपने इंटरव्यू में किया है.

कैंसर से चला गया था मुंह का स्वाद- राकेश रोशन

एक इंटरव्यू में राकेश रोशन ने कैंसर के बारे में बात करते हुए बताया कि, ‘मुझे याद है वो 15 दिसंबर 2018 का दिन था. मुझे फोन आया, जिसमें कहा गया कि मेरी बायोप्सी रिपोर्ट पॉजीटिव है. जीभ का कैंसर सबसे बुरा होता है. आपके मुंह का स्वाद चला जाता है. मैं ठीक से पानी, चाय और कॉफी तक भी नहीं पी पा रहा था. मेरा लगभग 10 किलो वजन घट गया था.’

डॉक्टर के मना करने के बावजूद रोजा पीता था शराब- राकेश रोशन

राकेश रोशन ने आगे बताया कि, ‘मैंने सिगरेट पीनी छोड़ दी थी, लेकिन शराब पीने का सिलसिला जारी रहा. हर दिन शाम को दो पैग मैं जरूर लेता था. कैंसर पीड़ित होने के चलते डॉक्टर की ओर से इसकी मंजूरी नहीं थी, लेकिन मैं ऐसा करता था. इससे मुझे मानसिक सुकून मिलता था और मेरे लिए यह जरूरी था. इसके आगे मैं कुछ नहीं सोचता था. हाल ही में मेरा स्कैन हुआ है और मैं पूरी तरह से फिट हूं.’

कैंसर से कभी घबराएं नहीं- राकेश रोशन

इसके पहले राकेश रोशन ने स्पॉटबॉय को दिए एक इंटरव्यू में कहा था, ‘परिवार को काफी परेशानी हुई लेकिन कोई भी इससे घबराया नहीं. राकेश के मुताबिक, जैसा की मैंने कहा, ये चीजें मेरे लिए नई नहीं थीं. हमने इसका पता किया और इसे ठीक करने की कोशिश में जुट गए. कभी डिप्रेशन में नहीं गया. जिंदगी जिया. कैंसर सिर्फ एक बड़ा नाम है.’