हिंदी गानों का शौकीन और लता मंगेशकर को ना पहचाने ऐसा हो ही नहीं सकता. दादा साहेब फालके अवॉर्ड से लेकर भारत रत्न तक का खिताब अपने नाम करने वाली स्वर सम्राज्ञी लता मंगेशकर का आज जन्मदिन है. आज के दिन लता जी 92 वे साल की हो गई हैं. बता दें कि लती जी ने करीब 36 भारतीय भाषाओं के गानों में अपनी आवाज दी है, वहीं केवल हिंदी में ही हजार से ज्यादा गानों में उनकी आवाज सुनने को मिली है.

2001 में भारत रत्न से सम्मानित की जाने वाली मशहूर गायिका ने भले ही कितने ही लोगों के प्यार में अपनी आवाज को घोला होगा, लेकिन क्या आपको मालूम है उनकी लव स्टोरी अधूरी रह गई? जी हां, ये सच है. लता जी ने शादी नहीं की ये तो सभी को मालूम है, लेकिन उनकी लव स्टोरी के बारे में काफी कम लोग ही जानते हैं. खबरों के मुताबिक, लता जी डूंगरपुर के महाराजा राज सिंह को अपना दिल दे बैठी थीं. राज सिंह, लता जी के भाई हृदयनाथ मंगेशकर के दोस्त भी थे. हालांकि, उनकी ये प्रेम कहानी अधूरी ही रह गई.

ये भी पढ़ें- आलिया भट्ट से शादी की अटकलों के बीच जोधपुर पहुंचे रणबीर कपूर, दिसंबर में हो सकती है शादी

दरअसल, कहानी के अनुसार राज सिंह ने अपने माता-पिता को वचन दिया था कि वो किसी भी आम घर की लड़की से शादी नहीं करेंगे. और मरते दम तक उनहोंने अपने वचन को निभाया. राज सिंह ने भी लता मंगेशकर की तरह ही जीवन भर शादी नहीं की. बता दें कि राज सिंह लता जी से 6 साल बड़े थे और उन्हें प्यार से मिट्ठू बुलाया करते थे. उनकी जेब में हमेशा लता जी के कुछ चुनिंदा गानों की एक टेप रिकॉर्डर हुआ करती थी. वहीं राज सिंह का 12 सितंबर 2009 में निधन हो गया और लता जी की प्रेम कहानी अधूरी ही रह गई. हालांकि, लता जी का नाम राज सिंह के अलावा किसी और के साथ कभी नहीं जुड़ा.