कई लोगों के मन में पीरियड्स के दौरान सेक्स को लेकर कई सारे सवाल उठते रहते हैं. कुछ लोगों का मानना होता है कि पीरियड्स के दौरान शारीरिक संबंध बनाना सही होता है तो वहीं कुछ लोग ऐसा करने से डरते हैं. तो आइए आपको बताते हैं पीरियड्स के दौरान सेक्स करने के फायदे और नुकसान.

फायदे

चिड़चिड़ापन से मिलेगी राहत

पीरियड्स के दौरान महिलाओं में कितनी चिड़चिड़ाहट होती है इसका अंदाजा या तो महिला को होता है या उनके पार्टनर को. ऐसे में शारीरिक संबंध बनाने से चिड़चिड़ापन कम होता है. इसके पीछे का कारण ये है कि यौन संबंध के दौरान हमारे शरीर से और ऑक्सीटोसिन निकलता है जो कि आपके दिमाग में प्लेजर सेंटर्स को सक्रिय कर देता है. इससे ऑर्गेज्म का एहसास भी होगा और आपका चिड़चिड़ापन भी दूर होगा.

ऐठन से राहत

पीरियड्स के दौरान के दर्द से राहत पाने के लिए संभोग एक अच्छा तरीका है. दरअसल, सेक्स के दौरान, महिलाओं के गर्भाशय की मांसपेशियां सिकुड़ जाती हैं जिससे पीरियड्स में होने वाली ऐंठन से कुछ राहत मिलती है. ऐसे में आपका शरीर ओर्गास्म एंडोर्फिन जारी करता है जिससे आपको अच्छा महसूस होता है.

सेक्स में आता है अधिक आनंद

कई लोगों के लिए मासिक धर्म के दौरान शारीरिक संबंध बनाना महीने के बाकी वक्त की तुलना में ज्यादा सुखद हो सकता है. ऐसा आपके कामेच्छा में बदलाव होने की वजह से होता है जो हार्मोनल उतार-चढ़ाव के परिणामस्वरूप आपके मासिक धर्म चक्र में होता है.

नुकसान

एक तरफ जहां पीरियड्स के दौरान शारीरिक संबंध बनाने के फायदे हैं तो दूसरी ओर ऐसा करने से आपको कई तरह की परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. इस वक्त के दौरान कुछ महिलाओं में रक्त का प्रवाह काफी तेज होता है. ऐसे में अगर महिला शारीरिक संबंध बनाती है तो इससे आपका बिस्तर खराब हो सकता है. इसके साथ ही एसटीआई का खतरा भी बढ़ जाता है. ऐसे वक्त में काफी लोगों का मानना होता है कि बिना कंडोम के भी रिश्ता बनाया जा सकता है जो बिल्कुल गलत है. ऐसे में प्रेग्नेंट होने का खतरा कम होता है, लेकिन एचआईवी जैसी बीमारियों से आप ग्रसित हो सकते हैं.