जब कुत्ते से पूछकर राजकुमार ने फिल्म को किया था मना, ऐसा जुदा था राजकुमार का अंदाज

बॉलीवुड में बहुत सारे अभिनेता आए और गए, लेकिन राजकुमार के जैसा ना तो कई आया और शायद ना ही कोई आ सकेगा. अपने दमदार पर्सनैलिटी से लोगों के दिलों पर राज करने वाले राजकुमार अपनी हाजिर जवाबी के लिए भी काफी मशहूर थे. हालांकि, वैसे तो राजकुमार की जिंदगी के कई ऐसे किस्से हैं जो काफी मशहूर हैं, लेकिन क्या आपको मालूम है कि एक बार राजकुमार ने अपने कुत्ते से पूछकर फिल्म करने से मना कर दिया था? तो आइए बताते हैं राजकुमार का ये दिलचस्प किस्सा.

बॉलीवुड की दिग्गज अभिनेत्री जीनत अमान हो, या गोविंदा हों, चाहे आज के बॉलीवुड के दबंग सलमान खान ही क्यों ना हो. सब राजकुमार से हमेशा कन्नी काटते दिखते थे. आखिर ऐसे अभिनेता से कौन ही उलझे जो जुबान पर आई हर बात को ही उगल दे, भले इससे किसी की बेइज्जती ही क्यों ना हो. यही कारण रहा कि फिल्म इंडस्ट्री में राजकुमार के रिश्ते काफी लोगों के साथ बिगड़ गए. ऐसा ही कुछ हुआ था ‘रामायण’ टीवी सीरियल के निर्देशक रामानंद सागर के साथ.

ये भी पढ़ें- BB OTT: शो में नेहा, शमिता और राकेश की दिखी मस्ती, दर्द में राकेश ने कहा- अब नहीं होंगे मेरे बच्चे

दरअसल, रामानंद सागर 1986 में फिल्म ‘आंखे’ को लेकर काम कर रहे थे. इसी फिल्म में मुख्य किरदार के लिए वो राजकुमार के पास पहुंचे थे. वहीं जब राजकुमार ने फिल्म की स्क्रिप्ट सुनी तो इसे सुनने के बाद उन्होंने अपने पालतू कुत्ते को आवाज लगाई. जिसके बाद उन्होंने फिल्म की स्क्रिप्ट अपने कुत्ते को सुनाकर पूछा कि क्या वो इस फिल्म को करेगा? वहीं जब कुत्ते ने कोई रिएक्शन नहीं दिया तो उन्होंने कहा, ‘देखा ये रोल तो मेरा कुत्ता भी नहीं करना चाहेगा.’

राजकुमार के इस बर्ताव के बाद निर्माता रामानंद सागर वहां से उठकर चले गए. इसके बाद दोनों ने कभी भी साथ फिल्मों में काम नहीं किया. वहीं ये फिल्म धर्मेंद्र को दे दी गई. साल 1968 में फिल्म रिलीज हुई और धर्मेंद्र के सबसे बड़ी हिट फिल्मों में से एक रही.

You may also like...